Breaking News

रणवीर रणंजय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में 62वें स्थापना दिवस के मौके पर कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखकर पांच कुंडीय यज्ञ और गोष्ठी का हुआ आयोजन / dainikmail24.com

 

रिपोर्टर- अभिजित त्रिपाठी


रणवीर रणंजय स्नातकोत्तर महाविद्यालय अमेठी के 62वें स्थापना दिवस के अवसर पर 18 अगस्त को महाविद्यालय में कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखकर सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करते हुए पाँच कुण्डीय वैदिक यज्ञ एवं विचार गोष्ठी आयोजित की गई।


महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ0 त्रिवेणी सिंह ने कहा कि राजर्षि ने जिस उद्देश्य से वर्ष 1959 ई. में महाविद्यालय की स्थापना की थी, उसको आगे बढ़ाने का कार्य प्रबन्ध परिषद् के अध्यक्ष डॉ0 संजय सिंह एवं सचिव डॉ0 अमीता सिंह द्वारा निरन्तर किया जा रहा है। आज लोगों में मूल्यों का क्षरण हो रहा है। हमें अपने कर्तव्य का निष्ठा पूर्वक पालन करना चाहिए। वैश्विक महामारी ने सम्पूर्ण भारत की शिक्षा व्यवस्था ही नहीं अपितु सामाजिक, आर्थिक एवं राजनीतिक व्यवस्था को भी प्रभावित किया है। आज इस संकट के दौर में हमें शिक्षा व्यवस्था को नवीन तकनीकी द्वारा आगे बढ़ाना है। डॉ0 त्रिवेणी सिंह ने कहा कि नये सत्र की कार्य योजना तैयार हो चुकी है। आज से बी0ए0, बी0एससी0 एवं बी0काम0 प्रथम वर्ष की ऑनलाइन कक्षायें शुरू की गयी हैं। स्थापना दिवस कार्यक्रम में डॉ0 दिनेश बहादुर सिंह, डॉ0 लाजो पाण्डेय, डॉ0 धनन्जय सिंह, डॉ0 अक्षयवर नाथ तिवारी, डॉ0 रामसुन्दर यादव, डॉ0 सुधीर सिंह, डॉ0 प्रमिला, डॉ0 ओ0पी0 त्रिपाठी, डॉ0 सन्तोष कुमार सिंह, डॉ0 सुभाष सिंह, डॉ0 बलवीर सिंह, डॉ0 वीरेन्द्र बहादुर सिंह, डॉ0 अजय कुमार सिंह,डॉ0 अरविन्द कुमार सिंह,डॉ0 पवन कुमार पाण्डेय आदि शिक्षक एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।वैदिक यज्ञ को गायत्री शक्ति पीठ अमेठी के प्रवजक इन्द्रदेव शर्मा ने सम्पन्न कराया।

No comments