Breaking News

प्रतापगढ़ से कवीअंजनी कुमार बिखेर रहे हैं जलवा / Dainik Mail 24

 

प्रयागराज से अमित कुमार  तिवारी


जहाँ कमी हो रामजी कर दो पर्दाफाश।

सावधान हों सब मगर नष्ट न हो विश्वास।

गलत एक है राम जी अच्छे लोग हजार।

मानवतावादी बढ़े उत्तम मधुर विचार।

जहाँ भरोसा राम जी आशा है विश्वास। 

वहाँ राम जी मन कभी होता नहीं उदास।

कमी फैलकर करेगी केवल दंगा राम। 

अच्छाई से हर जगह होगा अच्छा काम।

कमी दबाकरके वहीं नष्ट करे जो राम।

ऐसे पावन पुरुष को बारंबार प्रणाम। 

राम प्रेम संसार में सारे सुख का मूल।

काँटो के ऊपर खिला राम प्रेम का फूल।

कष्ट मिला हो जो मुझे उसे भुला दूँ राम।

जपूँ प्रेम से आपका मंगल पावन नाम। 

सियावर रामचंद्र की जय।

सुबह का बारंबार प्रणाम।

 आपका अंजनी कुमार स्वतंत्र प्रतापगढ़ उत्तर प्रदेश

No comments