Breaking News

राजा भैया के पिता राजा उदय प्रताप सिंह किए गए नजरबंद Dainik Mail 24


Team Dainik Mail 24



प्रतापगढ़। कुंडा के विधायक , जनसत्ता दल लोकतांत्रिक के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व मंत्री रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया के पिता जी राजा उदय प्रताप सिंह को नजरबंद कर दिया गया है। उदय प्रताप सिंह जी को उनके खास 11 लोगों के साथ हाउस अरेस्ट कर दिया गया है। उदय जी को नजरबंद करने का आदेश प्रतापगढ़ के डीएम ने दिया है। बताया जाता हैं की उनका हाउस अरेस्ट शनिवार शाम 5 बजे से रविवार रात 9 बजे तक रहेगा। राजा भैया के पिता जी राजा उदय प्रताप सिंह जी हर बार की तरह इस बार भी हनुमान मंदिर पर भंडारा करने की परमिशन मांग रहे थे, जिसके बाद प्रशासन ने उन पर ये कार्रवाई की है।

राजा उदय प्रताप सिंह जी ने प्रशासन से हनुमान मंदिर पर भंडारा करने की परमिशन मागी थी, जिस हनुमान मंदिर पर भंडारे की बात है, वहां पास से ही मोहर्रम का जुलूस भी निकलता है, जिसके चलते इलाके का सौहार्द बिगड़ने के खतरा रहता है, जिसके कारण ही उनपर तह कार्यवाही हुई। पिछले 3 सालों से जिला प्रशासन इसी के चलते हनुमान मंदिर पर पूजा-पाठ और भंडारे की अनुमति नहीं देता है और उन्हें नजरबंद करते हुए भंडारे का आयोजन नहीं करने देता। बताया जाता हैं कि यह बिवाद हनुमान मंदिर पर बंदर की मौत के बाद से ही विवाद शुरू हुआ। लगभग 15 साल पहले साल 2005 में मोहर्रम के दिन हनुमान मंदिर पर किसी बंदर को गोली मार दी गई थी, इसके बाद से ही उस बंदर की पुण्यतिथि पर लोग भंडारे का आयोजन करते हैं। 2015 से राजा भैया के पिता ने मंदिर पर पूजा-पाठ को भव्य रूप दे दिया। इसके बाद दो समुदाय में टकराव देखते हुए जिला प्रशासन ने 2016 में इस आयोजन पर रोक लगा दी थी। यह मामला बढते बढते सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच चुका है। हालांकि सुप्रिम कोर्ट ने इस सम्बंध मे जिला प्रशासन को निर्णय लेने का निर्देश दिया। 24 अगस्त 2020 को कोरोना का हवाला देते हुए फिर जिलाधिकारी ने भंडारे पर रोक लगा दी। 


No comments