Breaking News

*गोरखपुर-महराजगंज जेल में नहीं चल पाई गोरखपुर के माफिया विनोद उपाध्याय की मनमर्जी* Dainik Mail 24


 *रिपोर्ट-स्वरूप श्रीवास्तव गोरखपुर 24-08-2020* 


 *गोरखपुर* 

गोरखपुर के माफिया विनोद उपाध्याय की मनमर्जी जिला कारागार में नहीं चल पाई।उसने बंदी रक्षकों पर धौंस जमाने की कोशिश की लेकिन जेलर की सख्ती व अधीनस्थों के ऊंचे मनोबल के आगे वह फेल हो गया। अब शासन के निर्देश के बाद माफिया विनोद को प्रशासनिक आधार कर केन्द्रीय कारागार फतेहगढ़ शिफ्ट कर दिया गया। आदेश मिलते ही जेल प्रशासन ने रविवार की रात में ही कड़ी सुरक्षा के बीच माफिया विनोद को केन्द्रीय कारागार फतेहगढ़ रवाना कर दिया। गोरखपुर के धर्मशाला बाजार के रहने वाले माफिया विनोद उपाध्याय के खिलाफ दो दर्जन से अधिक संगीन मुकदमें दर्ज हैं। गोरखपुर जेल से 19 जुलाई को प्रशासनिक आधार पर माफिया विनोद उपाध्याय को महराजगंज जिला कारागार शिफ्ट किया था। अब शासन के निर्देश पर सुरक्षा कारणों के चलते माफिया विनोद उपाध्याय को केन्द्रीय कारागार फतेहगढ़ प्रशासनिक आधार पर शिफ्ट किया गया। जेल में माफिया विनोद ने बंदी रक्षकों पर धौंस जमाने की भरपूर कोशिश की लेकिन जेलर अरविन्द श्रीवास्तव की जेल में उसकी मनमर्जी नहीं चल पाई। जेलर व उनके अधीनस्थ कर्मचारियों ने अपने मनोबल से जेल की गाइडलाइन का समान पालन सभी कैदियों से कराया। बताया जा रहा है कि इसी के चलते वह दूसरी जेल में जाने के लिए बेचैन था। गोरखपुर जेल में कई बार वह बंदी रक्षकों को डिस्टर्ब करने की कोशिश कर चुका था। यहां भी भौंकाल टाईट करके की कोशिश किया लेकिन जेलर की सख्ती के आगे उसके मंसूबे पूरे नहीं हो पाए।


जेल में बंद हैं साढ़े आठ सौ से अधिक कैदी 

महराजगंज जिला जेल में साढ़े आठ सौ से अधिक कैदी बंद हैं। इसमें अनिल दुजाना, अंकित गुर्जर, शेखर तिवारी समेत कई कुख्यात कैदी शामिल हैं। इसके अलावा विदेशी कैदी भी हैं। लेकिन जेल प्रशासन की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के चलते एक भी कैदी बदमाशी नहीं कर पाता है। आम कैदियों की तरह सभी बंदियों के साथ सलूक किया जाता है। जिला कारागार के जेलर अरविन्द श्रीवास्तव ने बताया कि शासन के निर्देश पर प्रशासनिक आधार पर सोमवार को विनोद उपाध्याय को केन्द्रीय कारागार फतेहगढ़ शिफ्ट कर दिया गया है!

No comments