Breaking News

सोना व्यापारियों पर पडा लाकडाउन का असर Dainik Mail 24


सोना व्यापारियों पर पडा लाकडाउन का असर

रिपोर्ट- प्रेम मिश्रा (प्रतापगढ़)



पूरे देश में मार्च के महीने में लॉकडाउन लागू कर दिया गया था। इसके बाद से सभी तरह के व्यापारी परेशान हैं। वहीं अगर सोने की बात करें तो लॉकडाउन के दौरान ही सोने के दाम ने आसमान छू लिया। सोने का दाम आज लोगों की सोच से भी ज्यादा हो गया है। इसका सीधा असर व्यापारियों पर देखा जा रहा है। उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ कोरोना पर लगाम लगाने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन की घोषणा की गई थी। लॉकडाउन से कोरोना पर लगाम तो नहीं लग सकी, लेकिन पूरे देश में सभी व्यवसायों पर इसका असर अब देखा जा रहा है। इसी बीच सोने के दामों में काफी इजाफा दर्ज किया गया है, लेकिन इस इजाफे का असर दुकानदारों के जीवन पर किस तरह से हुआ है, इसे जानने के लिए हमारे संवाददाता ने स्वर्ण विक्रेताओं से बात की और उनकी स्थिति जानने की कोशिश की।
सोना व्यापारियों पर लॉकडाउन का असर।  लल्लन सोनी ज्वैलर्स के सोना व्यापारी  लल्लन सोनी ने बताया कि लॉकडाउन ने हमारे धंधे की कमर तोड़ कर रख दी। शादियों के सीजन में हमारी बिक्री ज्यादा होती थी, लेकिन इस बार बहुत कम शादियां हुईं और जिन लोगों ने शादियां की भी, उन्होंने उतना गहना नहीं खरीदा. सिर्फ 25% ही हमारा व्यापार हो पाया। बाकी 75% मंदी की भेंट चढ़ गया. उन्होंने बताया कि हमें ग्राहक ने पहले 36000 में आर्डर दिया था, लेकिन अब लोग लॉकडाउन होने के बाद भी उसी रेट में ऑर्डर मांग रहे हैं।  हम मजबूरी में 48,000 के दाम पर सोना खरीद कर ग्राहकों को 32,000 के दाम पर देने को मजबूर हैं. हम ग्राहकों से कोई मतभेद करते हैं तो भविष्य के लिए हमारा धंधा खराब हो जाएगा. यही सोच कर हम 10000 नुकसान झेल रहे हैं. ज्वैलर्स के व्यापारी  लल्लन ने बताया कि सोना भले ही चमक गया है, लेकिन हम सबका व्यापार एकदम फीका चल रहा है। क्योंकि ग्राहक मान नहीं रहे बल्कि वह और मुनाफा लेने के लिए परेशान हैं। उन्होंने बताया कि पहले हमने बस ऐसे ही आर्डर ले लिया। ताकि हमें सीजन में नुकसान न हो। उस समय ग्राहकों ने लिखवाया भी नहीं था, लेकिन अब वह बात कर रहे हैं कि हमने आपको 36000 में आर्डर दिया था और हमे हमारा ऑर्डर उसी दाम में चाहिए। इसलिए वह अपना ऑर्डर उस हिसाब से मैनेज करवा रहे हैं। कुछ लोगों का  बयाना दिया हुआ पैसा  वापस कर रहे हैं  और ऐसे में हम लोगों को अपने घर से पैसे देना पड़ रहे हैं व्यापार एकदम जीरो हो गया है ।वहीं आभूषण बनाने वाले कारीगर भोला  ने बताया कि लॉकडाउन में ऑड-इवन के अनुसार दुकानें खुल रही हैं। इसलिए अब हफ्ते में बस पांच  दिन दुकानें खुल रही हैं उन्होंने बताया कि पिछले 20 सालों से वह कारीगरी का काम करते आ रहे हैं। जब उनसे पूछा गया कि सोने के चमक से उनकी जिंदगी पर कितना असर पड़ा है। तो उन्होंने बताया कि मुनाफा तो है पहले जो 100 कमाते थे, अभी बढ़े दामों से हम 150 रुपये तक कमा ले रहे हैं. लेकिन हम कुल फीसदी की बात करें तो पहले 100 कमाते लेकिन अभी 50 रुपये ही कमा पा रहे हैं।वहीं दुकान पर खरीदारी करने आयी रेखा ने बताया कि सोना सच इतना महंगा हो गया है कि अब वो हमारे पहुंच से भी परे है। अभी हाल ही में मेरी शादी हुई है। पहले हम लोग ज्वेलरी दो लाख से ज्यादा की लेने वाले थे, लेकिन महंगाई को देखते हुए हमने बहुत ही कम में सब मैनेज करने की कोशिश की। वहीं एक अन्य ग्राहक सरिता ने बताया कि लॉकडाउन के कारण हमारा धंधा पूरी तरीके से बैठ गया। सोने का महंगा हो जाना और चिंता का विषय है. हम यहां एक तोला सोना लेने आए थे, लेकिन अब आधा तोला ही ले रहे हैं।

No comments