Breaking News

मोदी सरकार हर क्षेत्र मे असफल : प्रमोद तिवारी Daink Mail 24

 

*मोदी सरकार हर क्षेत्र मे असफल : प्रमोद तिवारी* Daink Mail 24

Special Report Team Pratapgarh


लालगंज। वरिष्ठ कांग्रेस नेता एवं पूर्व राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी ने केन्द्र की मोदी सरकार पर लगातार गलत आर्थिक नीतियो के चलते देश की अर्थव्यवस्था के लिए घातक करार दिया है। पूर्व राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी ने केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा भारतीय रिजर्व बैंक के बोर्ड द्वारा रिजर्व बैंक आफ इण्डिया के रिजर्व फण्ड से दोबारा फिर सत्तावन हजार एक सौ अटठाईस करोड़ रूपये वर्ष 2019-20 के लिए की मंजूरी कराए जाने को देश के लिए गंभीर चिंताजनक स्थिति करार दिया है। श्री तिवारी ने इसे सरकार की वित्तीय प्रबन्धन के क्षेत्र मे बडी चूक के साथ कडी असफलता ठहराते हुए कहा कि इसके पहले भी खराब हालात का हवाला देकर इस सरकार ने रिजर्व बैंक के फण्ड से करोडो रूपये की धनराशि लेकर देश के सामने निराशा का माहौल खडा किया गया था। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद ने कहा कि रिजर्व बैंक अपने रिजर्व फण्ड मे आपातकालीन समय के लिए धनराशि देशहित मे रिजर्व रखती है। बकौल प्रमोद तिवारी पिछले दो दशक मे केन्द्रीय रिजर्व बैंक के रिजर्व फण्ड से धनराशि लिये जाने के संदर्भ मे दो बार समिति का गठन किया गया था और समिति की सिफारिशें सकारात्मक आने के बावजूद भी तत्कालीन केन्द्रीय सरकारो ने रिजर्व बैंक से उसके रिजर्व फण्ड से धनराशि लेने से इंकार कर दिया था। कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने रिजर्व बैंक के दो पूर्व गर्वनर डा. रघुराम राजन और डा. उर्जित पटेल के रिजर्व फण्ड से धनराशि देने के विचार को भी विरोध मे होने का उदाहरण देते हुए सरकार के इस कदम को देश की आने वाली पीढ़ियो के साथ धोखा करार दिया है। उन्होने पीएम को याद दिलाया कि दो बार पहले और आज जब तीसरी बार वह भारतीय रिजर्व बैंक से धनराशि निकाल रहे है तो यह पिछले सत्तर सालो मे कांग्रेस सरकारो के समय मे देश की जनता की गाढ़ी कमाई से अर्जित की गई वहीं धनराशि है जिसे निकालने का उन्हें कोई नैतिक हक नही है। मीडिया प्रभारी ज्ञानप्रकाश शुक्ल के हवाले से सोमवार को जारी यहां बयान मे श्री तिवारी ने अमेरिका मे आसन्न राष्ट्रपति चुनाव मे भारतीय मूल की कमला हेैरिस को उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाये जाने मे भी प्रधानमंत्री मोदी के नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम को भारतीय मूल की महिला की एक बडी संभावित सफलता के लिए बाधक करार दिया। प्रमोद तिवारी ने कहा कि नमस्ते ट्रंप से भारतीय मूलवंशियो को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रति तो आने वाले चुनाव मे अच्छी सदभावना अर्जित करने का संदेश दिया गया। वहीं अमेरिका मे हाउडी मोदी कार्यक्रम करके भी यह माहौल बनाया गया था। श्री तिवारी ने सवाल उठाया है कि आज जब विरोधी दल डेमोक्रेटिक पार्टी से भारतीय मूल की कमला हैरिस अमेरिकी उपराष्ट्रपति पद के लिए खडी हो गई है तो क्या यह भारतीय माता की संतान होते हुए भी और अमेरिका मे भारतीय मूल के लोगों की सदभावनाएं मजबूती से लेकर कमला हैरिस एक विशेष अवसर किसी भारतीय मूल को आसानी से नही दिला देती। उन्होने इसे दुर्भाग्यपूर्ण ठहराते हुए कहा कि इसीलिए भारत की घोषित विदेश नीति रही है कि ऐसे कृत्य नही किये जाएंगे जिससे दुनिया के किसी दूसरे देश के चुनाव मे कोई असर पडे। प्रमोद तिवारी ने आर्थिक तथा वैदेशिक नीति पर भी मोदी सरकार को विफल ठहराते हुए देश के प्रति जबाबदेही के कई सवाल खडे करते हुए सरकार के शीर्ष नेतृत्व को समय रहते जागरूक होने की भी नसीहत दी है।

No comments