Breaking News

डलमऊ रायबरेली नगर पंचायत के कर्मचारी बाज नहीं आ रहे हैं अपनी हरकतों से Dainik Mail 24

 रिपोर्टर आनंद निषाद डलमऊ



सिंधी कॉलोनी टड़ तल्ला रायबरेली निवासी संतोष सिंधी पुत्र नाथा सिंधी ने आरोप की पुष्टी करते हुए बताया कि हमारी माता जी सुरेखा सिंधी की रिपोर्ट corona  पॉजिटिव होने के बाद लालगंज रेल कोच एल टू में इलाज चल रहा था जहां 16 सितम्बर को उनकी म्रत्यु हो गई जिसके बाद Covid प्रोटोकाल मे उनके अंतिम संस्कार के लिए डलमऊ घाट ले जाया गया जहां पर चिता की जलाने की व्यवस्था के नाम पर हमसे नगर पंचायत के कर्मचारियों ने दस हजार रुपये की जबरन वसूली की व ना देने की स्थिति मे अंतिम संस्कार ना करवाने की चेतावनी दी शोकाकुल परिस्थिति में मैं नगर पंचायत कर्मचारी आशीष श्रीवास्तव व सुनील सफाई कर्मी को दस हजार रुपये दे दिया तब जाकर हमारी मा की चिता को अग्नि दी गई. इस मानवीय संवेदना को झकझोर देने खबर की पुष्टि के लिए जब नगर पंचायत के अधिषासी अधिकारी अमित सिंह से जानकारी की गयी तो मामले की जानकारी नहीं है कह कर जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ लिया गया जिससे उनकी संलिप्तता के आरोप को भी बल मिल जाता है ऐसे बहुत से गंभीर आरोप अधिशासी अधिकारी के  संज्ञान में आते हैं जिन पर लापरवाही बरतते हुए अपने ढुलमुल रवैया से उनकी जांच कभी नहीं हो पाती बल्कि उनके विभाग के कर्मचारियों के आसमान छूने लगते हैं नगर पंचायत के कर्मचारियों सहित अधिशासी अधिकारी भीअपदा को अवसर मे बदलने का कोई भी मौका शायद हाथ से नहीं जाने देना चाहते रविवार को भी दो वसूली के मामले जिनकी मौत कोरोना से हुई थी उनसे भी आठ हजार रुपये वसूली की शिकायत पर ऊपजिलाधिकारी सविता यादव ने बताया कि पूर्व की शिकायत नहीं आई है आज मामला संज्ञान में आया है पीड़ित को बुलाया गया है दोषियों पर सख्त कार्यवाही की जाएगी.




No comments