Breaking News

*61 करोड़ की नगर पालिका की सालाना बजट बैठक गुरुवार को* Dainik Mail 24


*चेयरमैन पति व असहमत सदस्यों ने शुरू की सभासदों की परिक्रमा*


सुल्तानपुर :-आगामी गुरुवार को नगर पालिका परिषद की सालाना बजट बैठक का एलान हो गया है इसी के साथ चेयरमैन व असहमत सभासद अपने पाले में सदस्यों को लाने के लिए अपनी रणनीति बनाने में जुट गए है । चेयरमैन के पति अजय जयसवाल सभासदों की ड्योढ़ी की लगातार परिक्रमा कर रहे है वही एजेंडे के अवैध होने की बात कहते हुए दर्जन भर से अधिक सभासद एक बार फिर बगियाना अंदाज अपनाए हुए है । बीते गुरुवार से सभासदों को एजेंडा दिया जा रहा है जिसमे केवल 2020-21 के बजट स्वीकृतार्थ ही लिखा गया है । इस पर सभासदों का कहना है की बीते 10 जून की बैठक में लाये गये तीनो एजेंडे सदस्यों द्वारा बहुमत से फेल किया गया था जिसे इस बजट में आना अनिवार्य व कानून सम्मत है । बजट बैठक को लेकर असहमत सदस्यों द्वारा जिला व् पुलिस प्रशासन को अग्रिम सूचना दी जा चुकी है । पिछली बजट बैठक काफी हंगामेदार रही जिसमे कार्यवाही पुस्तिका में कटिंग होने के बाद सोलह सदस्यों ने धरना दिया था । धरने के बाद सदस्य की शिकायत पर नगर कोतवाली में डीएम के निर्देश पर जाँच के बाद पालिका के वरिष्ठ लिपिक सुभाष मिश्र के ऊपर गम्भीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया जिसकी जांच लंबित है । सभासदों के चेयरमैन कक्ष में बैठने के विवाद में दोनों पक्षो की तहरीर पर नगर कोतवाली में मुकदमा भी दर्ज हुआ है । सभासदों की शिकायत पर शासन की जाँच में एक करोड़ चौदह लाख नब्बे हजार रूपये की अनियमितता की दोषी व उच्च न्यायालय के मुकदमे में जबाबदेही से भाग रही चेयरमैन के लिए यह बजट करो या मरो के समान है । 

*इनसेट :- बजट के पीछे का क्या है खेल*

सूत्रों का कहना है कि पालिका में निर्माण का कई करोड़ के भुगतान लंबित है जिसमे चेयरमैन के पति की हिस्सेदारी के साथ साथ चहेते ठेकेदारों का हित फंसा है जिससे चेयरमैन पक्ष की बजट पास कराने की छटपटाहट देखी जा सकती है । इसके अतिरिक्त लगभग 21 करोड़ की धनराशि नगर पालिका में सुरक्षित है जिसे विकास कार्यो के बहाने अपने चहेते ठेकेदारों के साथ मिलकर हजम करने की भी लम्बी सोच है । टैक्सी स्टैंड ठेकों की कारस्तानी शहर की जनता के बीच आम चर्चा में है । चेयरमैन बजट के सहारे अपनी लगातार धूमिल होती जा रही छवि को सुधारने के चक्कर में भी लगी है ।


*इनसेट :-नगर पालिका बोर्ड का हाल*


नगर पालिका बोर्ड की स्थिति देखें तो कट्टर हिंदू की छवि वाले फायर ब्रांड नेता चेयरमैन के पति अजय जयसवाल के खेवनहार के रूप में बोर्ड के मुस्लिम सभासदों की बड़ी भूमिका रही है । पहली बजट बैठक से ही लगातार चार से पांच की संख्या में मुस्लिम सभासदों ने भाजपा की चेयरमैन बबिता जयसवाल के साथ खड़े होकर बड़ा समर्थन दिया है । इन सभासदों में समाजवादी , ब स पा , व कांग्रेस के सिंबल पर चुनाव जीत चुके सदस्य शामिल रहे है । बीते 10 जून की बजट बैठक में चेयरमैन बबिता जयसवाल के विकास विरोधी , अनियमितता व भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए आधा दर्जन भाजपा के सभासदों ने चेयरमैन बबिता जयसवाल व उनके पति अजय जयसवाल पर अहंकारी रुख अख्तियार कर तानाशाही करने , विकास कार्यों को बाधित करने , पालिका में भ्रष्टाचार कर पार्टी की छवि बदनाम करने , शासन की जांच में दोषी पाए जाने का आरोप लगाते हुए चेयरमैन की बजट बैठक का विरोध कर एजेंडा फेल किया था । 

*इनसेट :- इन पर रहेगी निगाहें*


आगामी गुरुवार को होने वाली बैठक में नगरपालिका के सभासदों जिन पर शहर की लाखों की आबादी वाली जनता की निगाहें टिकी होगी उनमें से प्रमुख रूप से चेयरमैन के असहमत खेमे के *सभासद ज्योतिमां श्रीवास्तव , अफजल अंसारी , मिथिलेश चौरसिया , मंगरु प्रजापति , संतोष मिश्रा , व अरुण सिंह* का रुख पालिका के बजट का भविष्य तय करेगा । वही सभासद *अमोल बाजपेई , सुधीर तिवारी , मंजू सिंह , सज्जाद खान , अजय सिंह , कुसुमलता , राजदेव , माया सोनकर ,अरुण कुमार ,डॉ संतोष सिंह* लगातार बजट को लेकर नियम संगत पालिका चलाने , पारदर्शी व्यवस्था लागू करने , व बोर्ड के वापस हुए अधिकारों को लागू कराए जाने की बात कहते हुए बजट के समर्थन की बात कर रहे हैं । यहां सभासदों का कहना है पारदर्शी व्यवस्था , बोर्ड के अधिकार जोकि पिछली बैठक में पास हुए हैं के अनुसार बजट पास कर साफ-सुथरी , नियम संगत व्यवस्था के तहत पालिका चलाई जाएगी तो उन्हें कोई एतराज नहीं है ।

*इनसेट :- ये है समर्थन में*


 चेयरमैन खेमे से सभासद *मनीष जयसवाल , संदीप गुप्ता , आतमजीत सिंह टीटू , विवेक लोहिया , आशारानी , मोहम्मद आजम , मोहम्मद आरिफ , जाकिरा बेगम व शबनम* चेयरमैन के बबिता जयसवाल के साथ बजट के पक्ष में दिखाई दे रहे हैं ।








No comments