Breaking News

जनपद की सबसे पुरानी रामलीलाओं में एक आदर्श रामलीला समिति सराय आना देव में चल रहा मंचन Dainik Mail 24

 शिव धनुष के टूटते ही परशुराम हुए क्रोधित


प्रतापगढ़ । आदर्श रामलीला समिति सरांय आना देव में मंचित रामलीला के तीसरे दिन सीता जी द्वारा भगवान शिव के धनुष को उठाकर रखने के पश्चात राजा जनक द्वारा उस धनुष को उठाने वाले के साथ ही सीता के विवाह का प्रण करने और सीता स्वयंवर के रोमांचकारी दृश्य का कलाकारों के माध्यम से बेहतरीन मंचन किया गया।भगवान श्री राम के हांथो धनुष टूटने के बाद परशुराम के क्रोध और लक्ष्मण का कटाक्ष दर्शकों को  रोमांचित कर रहा था।उसके पश्चात विवाह और भगवान श्री राम के राजतिलक के आयोजन तक रामलीला के मोहक दृश्यों ने दर्शकों को भाव विभोर कर दिया।

          रामलीला के मंचन के दौरान समिति द्वारा  कोविड -19 के नियमों के पालन हेतु गठित टीम द्वारा सेनेटाइजर, मास्क और सोशल डिस्टेंस में रहने की  व्यवस्था आने वाले दर्शकों को दी जाती है। रामलीला समिति के अध्यक्ष प्रधान सराय आना देव ने बताया कि महामारी के बीच भगवान श्री राम की लीला को करना बहुत ही कठिन कार्य है परंतु श्री राम की कृपा से 73 वर्षो से जो परम्परा चली आ रही है सरकार ने अनुमति देकर उसे निर्विघ्न रूप से शुरू करने के मार्ग को प्रशस्त कर दिया।हमारे कलाकारों ने अल्प समय में ही मंचन की तैयारी कर श्री राम जी की लीला को दर्शकों तक पहुंचा रहे हैं।








No comments