Breaking News

लखनऊ विधानसभा के पास महिला ने ख़ुद को लगाई आग, महराजगंज पहुंची आंच,जाच का आदेश Dainik Mail 24

 

रिपोर्ट-स्वरूप श्रीवास्तव महराजगंज 14-10-2020


महराजगंज--

लखनऊ विधानसभा के पास मंगलवार को उस समय अफरा-तफरी मच गई जब महराजगंज जिले की एक महिला आत्मदाह करने पहुंच गई। जब तक पुलिस एक्शन में आती तब तक महिला खुद को आग के हवाले कर चुकी थी। काफी मशक्कत के बाद पुलिस आग बुझाने में कामयाब हुई। हालांकि महिला बुरी तरह जल चुकी है। जिसे एंबुलेंस के जरिए उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद जांच की आग महराजगंज सदर तक पहुंच गई। इससे पुलिस महकमा में हड़कंप मचा हुआ है। सूत्रों की मानें तो महिला अपने कथित पति के घर में प्रवेश नहीं कर पाने और उनकी प्रताड़ना से तंग आकर जिला पुलिस के समक्ष न्याय की गुहार लगाई थी। बताया जा रहा है कि राजधानी से पुलिस पदाधिकारी मामले की जांच करने के लिए महराजगंज कूच कर चुके हैं। वहीं महराजगंज थाना की एसओ भी राजधानी पहुंच चुकी हैं।


महिला कर रही है सउदी में रहने वाले युवक से निकाह का दावा---


महिला ने कुछ दिन पूर्व एक लिखित आवेदन के जरिए बताया कि उसकी शादी करीब आठ वर्ष पूर्व पिपराइच उर्फ पचरूखिया में हिन्दू रीति-रिवाज के साथ हुई थी, लेकिन पति नशे का आदी था। इससे दोनों में अनबन होते रहती थी। बाद में महिला ने ही पति से संबंध समाप्त कर लिया। फिर वह महराजगंज के वीर बहादुर नगर में किराया पर कमरा लेकर रहने लगी। इसी बीच बगल के मकान में रहने वाले वर्ग विशेष के युवक ने उसे बहला फुसलाकर उसके साथ शारीरिक संबंध बना लिया। आरोप है जब महिला गर्भवती हो गई तब युवक अपने घर पर मौलवी बुलाकर निकाह कर लिया। युवक महिला को गोरखपुर के नकहा स्टेशन बरगदवा, मोहद्दीपुर और पादरी बाजार में साथ रखा। इस बीच वह उसके साथ मारपीट करने लगा और साथ छोड़ कर भाग जाने की धमकी देते हुए दबाव बनाकर उसने महिला का नाम तक बदल दिया। कुछ दिन बाद युवक के घर वालों ने महिला को मारपीट कर बेघर कर दिया। तबसे पीड़िता इधर-उधर की ठोकर खा रही थी।

चार अक्तूबर को कथित शौहर के घर पर धरना दे चुकी है पीड़िता

मामले में महिला अपने कथित शौहर के वीर बहादुर नगर स्थित आवास पर बीते 4 अक्तूबर को पहुंच गई। घर के अंदर जाने की जिद पकड़ ली। लेकिन परिजन विरोध करने लगे। इस पर वह दरवाजे पर ही धरना पर बैठ गई। इस सूचना पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। पीड़िता को महिला थाना ले गई। महिला एसओ ने पीड़िता की काउंसलिंग के बाद कार्रवाई के लिए उससे तहरीर देने को कही, लेकिन पुलिस के मुताबिक तब महिला ने तहरीर नहीं दिया। उसकी मांग यही थी कथित शौहर के घर में उसको पनाह दिलाया जाए। बताया जा रहा है कि तीन दिन पहले महिला अपने पहले पति के गोरखपुर स्थित आवास पर पहुंच हंगामा की थी। वह पति से तलाकनामा के लिए स्टाम्प पेपर पर हस्ताक्षर मांग रही थी। परिजनों ने यह कहते हुए हस्ताक्षर से इंकार कर दिया कि दहेज उत्पीड़न व तलाक को लेकर कोर्ट में वाद दाखिल है। ऐसे में वह हस्ताक्षर नहीं दे सकते।

हंगामा की सूचना पर डायल-112 की पुलिस मौके पर पहुंच मामला शांत कराई थी। अब महिला लखनऊ विधानसभा के पास आत्मदाह का प्रयास की है। इसको लेकर जिले में सनसनी है!







No comments