Breaking News

राम ने बढ़े चाव से खाया शबरी के जूठे बेर, लक्ष्मण के लिए संजीवनी बने शबरी के बेर Dainik Mail 24

 

प्रातपगढ़, ब्यूरो रिपोर्ट । जनपद के अजगरा रानीगंज में आयोजित आदर्श रामलीला में पांचवे दिन के मंचन में सीता हरण, राम सुग्रीव मित्रता, भगवान श्रीराम व बाली युद्ध, शबरी प्रेम का मंचन किया गया। मंचन को दर्शकों ने तालियों से सराहा।


आदर्श रामलीला समिति अजगरा पूरे तुलसी के तत्वावधान में चल रही रामलीला की पांचवीं रात्रि का शुभारंभ शबरी के आश्रम में भगवान श्रीराम व लक्ष्मण द्वारा जूठे बेर खाने के साथ हुआ। भगवान श्रीराम व लक्ष्मण वनवास के दौरान सीता की खोज में भटक रहे होते हैं। भटकते हुए वह शबरी के आश्रम में पहुंचते हैं। अपने आराध्य देव को घर में देखकर शबरी रामभक्ति में डूबकर अपने चखे हुए बेर प्रभु राम व लक्ष्मण को खिलाती है। इस दृश्य को देखकर मौजूद दर्शक भी भावविभोर हो गए। उसके बाद बाली सुग्रीव युद्ध के दौरान रामलीला मंडप समेत दर्शक दीर्घा में रोमांच पैदा हो गया। बाली की भूमिका में सोनू पाण्डेय व सुग्रीव की भूमिका में गुंजन मिश्र ने अपने अभिनय को बेहतरीन तरीके से पेश किया। बाली सुग्रीव युद्ध के दौरान भगवान श्री राम बालि का वध करने के बाद सुग्रीव को किष्किंधा पर्वत का राजा घोषित करते हैं। साथ ही बाली के पुत्र अंगद को राजकुमार घोषित करते हैं। इस रामलीला में शबरी की पात्र गुड्डू तिवारी , राम के पात्र अनिल तिवारी व लक्ष्मण के पात्र दिलीप मिश्र निभा रहे हैं। मौके पर कमेटी के अध्यक्ष अनिल शुक्ल, संरक्षक मृत्युंजय शुक्ल, कोषाध्यक्ष दिनेश सिंह, निर्देशक पवन तिवारी, समेत सैकड़ों ग्रामीण मौजूद रहे।








No comments