Breaking News

मदरसे से प्रारंभिक शिक्षा ग्रहण करने वाला छात्र बना वैज्ञानिक, शोध के लिए गया जर्मनी Dainik Mail 24

 


कटरा मेदनीगंज निवासी मो0 आसिफ अंसारी की सफलता से गर्वान्वित हैं नगरवासी


प्रतापगढ़, ब्यूरो रिपोर्ट । मेहनत व लगन से सब मुमकिन है इस मुहावरे को सच कर दिखाया है मध्यम वर्गीय परिवार से सम्बन्ध रखने वाले नगर पंचायत कटरा मेदनीगंज, प्रतापगढ़ निवासी प्रतिभावान छात्र मोहम्मद आसिफ अंसारी ने। सपने वो नहीं जो हम सोते हुए देखते हैं, सपने वो हैं जो हमें सोने नहीं देते ।

       डॉ ए पी जे अब्दुल कलाम मिसाइल मैन नाम से प्रख्यात पूर्व राष्ट्रपति स्व.डा.ए पी जे अब्दुल कलाम  साहब की इन पंक्तियों को  सच कर दिखाया है प्रतिभाशाली, होनहार इस युवा छात्र ने। युवा वैज्ञानिक मो. आसिफ अंसारी से जर्मनी रवाना होने से पूर्व बातचीत में बताया कि चार भाई व एक बहन में वह दूसरे न.पर हैं पिता अतीकुर्रहमान अंसारी खेती के साथ साथ छोटे से कपड़े का व्यवसाय करते हैं मां गृहणी हैं दो भाई व बहन की शादी हो चुकी है जो गृहणी है। बड़ा भाई मो. तालिब अंसारी व तीसरे न0 का भाई अबुल फ़ैज़ अंसारी दोनों साथ में ही प्रतापगढ़ के बाबूगंज(अंतू) में हकीमी करते हैं चौथे न0 का सबसे छोटा भाई अबू शाद अंसारी सिलाई का कार्य करता है । साइंटिस्ट बने मो0 आसिफ अंसारी ने प्रारंभिक शिक्षा कक्षा एक से पांच तक नगर पंचायत स्थित मदरसा हयातुल उलूम से हासिल की, कक्षा छह से आठ तक की शिक्षा नगर के ही प्राथमिक विद्यालय से, इंटरमीडिएट की शिक्षा साइन्स बिषय से प्रतापगढ़ सिटी स्थित पी0 बी0 इंटर कॉलेज से,स्नातक(बीएससी) शिक्षा केमिस्ट्री व जुलोजी बिषय में के0 यन0 आई0 सुल्तानपुर से, परस्नातक (एमएससी) फिज़िकल केमिस्ट्री बिषय में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, अलीगढ़ से ग्रहण की।पश्चात वर्ष 2014 में राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाला टेस्ट ग्रेजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट इन इंजीनियरिंग (गेट) एवं वर्ष 2015 में नेट जेआरएफ अंतरराष्ट्रीय परीक्षा (आल इण्डिया रैंक 58) भी उत्तीर्ण की ।पश्चात आई0 आई0 टी0 मुम्बई से कॉर्डिनेशन केमिस्ट्री रिसर्च में वर्ष 2015-2020 में पी0एच0डी0 करने के दौरान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सात रिसर्च भी प्रकाशित हुए । पी0एच0डी0 पूर्ण करने दौरान ही यूएसए (अमेरिका),इस्राइल एवं जर्मनी से आमंत्रण भी मिला इस युवा वैज्ञानिक ने जर्मनी की यूनिवर्सिटी ऑफ गोटिंगन में विश्व प्रख्यात वैज्ञानिक प्रोफेसर हर्बर्ट रोएस्कि के नेतृत्व में नाइट्रोजन फिक्सेशन वर्क पर रिसर्च करने को चुना। और बीते 31 अक्टूबर 2020 को जर्मनी गए।जर्मनी जाने से पूर्व हुई बातचीत में युवा वैज्ञानिक मो0 आसिफ अंसारी ने यह भी बताया कि हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट की परीक्षा उन्होंने सेकंड डिवीज़न में उत्तीर्ण हुए फिर भी उनके हौसले ,जुनून व कड़ी मेहनत ने आज इस मोकाम तक पहुंचाया व सफलता का श्रेय अपने माता पिता एवं परिवार को देते हैं शिक्षा के दौरान मध्यवर्गीय परिवार होने के बाद भी होने वाले खर्च को वहन करने के साथ साथ हौसला भी दिया।इस युवा वैज्ञानिक के बातों देशप्रेम भी दिखा और कहा भी की आने वाले दिनों में मैं अपना शोध भारत देश के लिए करना चाहता हूँ।इस युवा वैज्ञानिक की सफलता से कटरा मेदनीगंज के साथ साथ जनपद वासी भी गर्वान्वित हैं।शिक्षा ग्रहण कर रहे छात्र एवं छात्राओं को इस युवा वैज्ञानिक से प्रेरणा लेनी चाहिए की हाई स्कूल इंटरमीडिएट परीक्षा द्वितीय श्रेणी में उत्तीर्ण करने के बावजूद भी हिम्मत नहीं हारी और आज बधाई के पात्र हैं। जुनून एवं लगन के साथ मेहनत की जाए तो कुछ भी असंभव नहीं है।







No comments