Breaking News

हन्डौर, देवली सहित जनपद के कई गावों मे बहुत ही धूम - धाम से मनाया गया तुलसी विवाह Dainik Mail 24

 संत निवास पर धूमधाम से होगा शालिग्राम एवं माता तुलसी का विवाहोत्सव


धर्माचार्य ओम प्रकाश पाण्डेय अनिरुद्ध रामानुज दास एंव आचार्य पं. लालमणि मिश्र ने तुलसी कथा महात्म्य पर डाला प्रकाश 



प्रतापगढ़ । सर्वोदय सद्भावना संस्थान द्वारा विगत वर्षों की भांति इस वर्ष भी भगवान शालिग्राम एवं माता तुलसी का विवाहोत्सव बृहस्पतिवार को संत निवास सेनानी ग्राम देवली परसन पांडेय का पुरवा में वेदपाठी ब्राह्मणों एवं  जनमानस द्वारा बड़े ही धूम - धाम के‌ साथ हुआ सम्पन्न । धर्माचार्य ओमप्रकाश पांडेय अनिरुद्ध रामानुज दास ने बताते हैं  मान्यता है कि पूर्व काल में माता लक्ष्मी के रूप में गोलोक में वास करती थी किंतु सरस्वती के श्राप वस लक्ष्मी जी को वृंदा वन कर मृत्युलोक में  आना पड़ा। भगवान श्रीमन्नारायण के अंश से जालंधर का अवतार हुआ, जिसने बहुत बड़ी तपस्या करके वृंदा से विवाह किया। वृंदा के सतीत्व के कारण ही उसने देवताओं को पराजित कर इंद्रलोक पर अपना अधिकार जमा लिया किंतु देवताओं के और ब्रह्मा जी तथा भगवान शंकर की प्रार्थना पर भगवान श्री मन नारायण ने जाकर के वृंदा के शरीर का स्पर्श किया, जिससे उसका सतीत्व नष्ट हुआ जालंधर भगवान शिव के त्रिशूल से मारा गया। वृंदा ने भगवान को श्राप दिया कि आपका हृदय पत्थर के समान है इसलिए आप पत्थर के रूप में हो जाएंगे। भगवान ने वृंदा के श्राप को स्वीकार करके कहा है कि वृंदा तुम तुलसी के रूप में अवतरित होगी ।द्वापर में वृंदावन में तुम्हारे ही समक्ष मैं राधिका जी के साथ और गोपियों के सामने महारास करूंगा। इसलिए तुलसी और भगवान श्रीमन्नारायण का विवाह होता है। भगवान स्वयं कहते हैं जो भी व्यक्ति तुलसी का एक पत्ता भी मुझे समर्पित करेगा हम उसका कल्याण करेंगे। उक्त जानकारी संस्थान के अध्यक्ष  ने दिया है। 

          वहीं सगरासुन्दरपुर प्रतिनिधि के अनुसार क्षेत्र के हन्डौर मे अरविन्द दुबे व पत्नी सुनीता ने बड़े ही धूम - धाम से गाजे - बाजे के साथ मां तुलसी का सालिकग्राम प्रभू से आचार्य पं. लालमणि मिश्र के द्वारा विधि - विधान के साथ पूजन अर्चन करके तुलसी विवाह सम्पन्न हुआ । विवाह रस्म के दौरान महिलाओं ने मंगल गीत गाकर विवाह कार्यक्रम मे सम्मिलित हुई । विवाह के दौरान आचार्य पं. लालमणि मिश्र ने तुलसी विवाह के कथा महात्म के बारे मे उपस्थित श्रद्धालुओं को बताया । कार्यक्रम के दौरान शासनादेश एंव स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी दिशा - निर्देश के तहत आयोजित हुआ कार्यक्रम । इस दौरान राजकुमार दुबे एडवो, राजेश दुबे, लालजी दुबे, राबेन्द्र दुबे, लक्ष्मीकान्त दुबे, रामगोपाल दुबे, बच्चूलाल मौर्य, संदीप, अशोक दुबे, अन्तरिक्ष दुबे, सचिन, कुणाल, रामकिंकर दुबे सहित गांव के बहुत से लोग मौजूद रहे ।








No comments