Breaking News

सावधान अब जल्द ही ठण्ड शुरू होने वाली है।_कोल्ड डायरिया का रीजन, ठंड का है सीजन_ डा०प्रमोद कुमार Dainik Mail 24

 

रिपोर्ट-स्वरूप श्रीवास्तव गोरखपुर 03-11-2020



ठंड के मौसम में बच्चों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। ऐसे मौसम में बच्चों को कोल्ड डायरिया होने की संभावना सबसे अधिक रहती है।यदि एक बार बीमारी हो जाये और बच्चों का ध्यान नहीं रखा तो उनकी जान पर भी बन सकती है। आम तौर पर लोगों के जेहन में गर्मी के समय ही बच्चों को डायरिया होने की संभावना रहती है लेकिन ऐसा नहीं होता है। गर्मी में बीमारी होने की जितना अधिक संभावना होती है उतना अधिक ठंड में भी होती है। यदि आपका बच्चा बार बार दस्त कर रहा है तो कोल्ड डायरिया हो सकता है ,इससे बच्चे के शरीर में पानी की कमी हो सकती है, क्योंकि ठण्डक में सामान्यतः लोग पानी देना कम कर देते हैं,दस्तों की संख्या बहुत अधिक हो तो चिकित्सकीय परामर्श भी आवश्यक हो जाती है अपने से बच्चे का इलाज कभी नहीं करें, वर्ना बीमारी बिगड़ सकती है।

जब तक चिकित्सक के पास न पहुँचे तब तक ओ आर एस घोल, चावल की मांड, अरहर या मूँग की दाल का पानी, पतली खिचड़ी, नारियल का पानी, पका केला आदि देते रहें।


। ठंड से बच्चे की उपाचय क्रिया प्रभावित हो जाती है जिसके चलते उल्टी व दस्त की शिकायत होने लगती है।


इन बातों का रखें ध्यान

-दस्त व उल्टी होने पर भी बच्चे की सफाई सारे कपड़े उतार कर नहीं करे

-मां अपना दूध पिला सकती है

-कमरे के तापमान को नियंत्रित रखे

-बीमारी हो जाये तो क्या करें

-मां गोद में अधिक से अधिक समय तब बच्चों को रखे

-जल्द से जल्द चिकित्सक को दिखाये

-बच्चे को बाहर का दूध कदापि न दें।जैसे अगर पहले से गाय, भैंस या डब्बे वाला दूध दे रहे हों तो बंद कर दे।गेहूँ के बने हुए खाद्य पद्यार्थ न दें!








No comments