Breaking News

गांवों आज भी मनाया जाता है एकादशी ( हड़ाहड़ाई ) का पर्व Dainik Mail 24

 


प्रतापगढ़ । उत्तर भारत सहित पूरे देश मे एकादशी का पर्व बड़े ही धूम - धाम से मनाया जाता है । इस दिन लोग व्रत रखकर माता तुलसी के साथ भगवान सालिकग्राम का विवाह धूम - धाम एंव गाजे - बाजे के साथ कराते हैं ।‌ उत्तर प्रदेश के अधिकांश गावों मे आज भी जीवान्त है हड़ाहड़ाई जलाने अर्थात खेतों से दरिद्र भगाने की प्रथा । प्रतापगढ़ के हन्डौर, सगरासुन्दरपुर, बासूपुर, लालगंज, पट्टी, रानीगंज, कुन्डा, सदर सहित कई गावों व कस्बों मे ग्रामीण इस दिन पुआल आदि का पुतला बनाकर अपने - अपने खेतों मे जाकर ' हड़ाहड़ाई खेलित हा, बड़वा कुक्कुर खेदित था ' ऐसा कहकर खेतों मे उस आग के अंश डालते हैं । ग्रामीणों के अनुसार ऐसी मान्यता है कि ऐसा करने से उन्हे खेतों से अधिक धन - धान्य की प्राप्ति होती है और खेत मे दरिद्र का वास नही होने पाता जिससे पैदावार अधिक होता है ।








No comments