Breaking News

नहीं लगेगा पट्टी का ऐतिहासिक दशहरा मेला Dainik Mail 24


औपचारिक रूप से रावण वध, शोभायात्रा व भरत मिलाप का होगा आयोजन


पट्टी, प्रतापगढ़ । वर्ष 1910 से लगने वाले पट्टी के ऐतिहासिक दशहरे मेले पर इस वर्ष कोरोना के संकट के बादल मंडरा रहे हैं, इस वर्ष कोविड -19 को मद्देनजर रखते हुए पट्टी का ऐतिहासिक दशहरा मेला स्थगित कर दिया गया है। मंगलवार की सुबह आयोजित रामलीला समिति की एक बैठक के दौरान निर्णय लिया गया|



मंगलवार को पट्टी डाक बंगले पर मेला समिति के पदाधिकारियों के साथ एडिशनल एसपी सुरेंद्र प्रसाद द्विवेदी, सीओ अतुल अंजान त्रिपाठी व कोतवाल पट्टी नरेंद्र सिंह, एसडीएम धीरेंद्र प्रताप सिंह, तहसीलदार विनोद गुप्ता के साथ एक आवश्यक बैठक हुई| इस बैठक में सर्वसम्मति से फैसला किया गया कि पट्टी का ऐतिहासिक दशहरा मेला नहीं लगेगा| इस मेले में बीते वर्षों में जो भी परंपराएं होती रही हैं वह सारी परंपराएं निर्वहन की जाएगी, लेकिन उसमें सीमित के लोग ही शामिल होंगे|

इस दौरान एडिशनल एसपी सुरेंद्र प्रसाद द्विवेदी ने बताया कि मेला समिति के पदाधिकारियों के साथ आज बैठक में सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया है कि कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए भरत मिलाप और रावण वध जैसी परंपराएं निर्वहन की जाएंगी लेकिन मेला परिसर में दुकाने नहीं होंगी व भीड़भाड़ नहीं लगेगी ।वहीं एडिशनल एसपी सुरेंद्र प्रसाद द्विवेदी ने पट्टी कोतवाल नरेंद्र सिंह को निर्देश दिया है कि वह अपनी पुलिस वाहन में माइक बांधकर पट्टी क्षेत्र के ग्रामीण अंचल में इसका प्रचार प्रसार करें, जिससे लोग मेले में ना आए और भीड़ एकत्र ना हो ।इस दौरान मेला समिति के अध्यक्ष जुग्गी लाल जायसवाल, महामंत्री अशोक श्रीवास्तव, रामचरित वर्मा, चंद्रकेश सिंह, सुरेश जयसवाल, अतुल खंडेलवाल, मोहम्मद रफीक उर्फ लकी हवाई दार, रमेश सोनी, सजीवन सोनी समेत तमाम लोग मौजूद रहे|








No comments