Breaking News

मौसम में आया बदलाव दिल्ली ,यूपी समेत कई राज्यो में बारिश की संभावना, तेज हवाओं से बढ़ेगी सर्दी... Dainik Mail 24

 

रिपोर्ट-स्वरूप श्रीवास्तव 15-11-2020



मौसम वातावरण की दशा को व्यक्त करने के लिये प्रयोग किया जाता है। अधिकांश मौसम को प्रभावित करने वाली घटनाएं क्षोभ मंडल (ट्रोपोस्फीयर) में होती है। मौसम दैनंदिन तापमान और वर्षा गतिविधि को संदर्भित करता है

देश के 7 राज्‍यों में 70 शहरों में अगले दो दिन तक तेज हवाओं के साथ हल्‍की से तेज बारिश होने की संभावना है। इस बारिश के चलते तापमान भी घटेगा और सर्दी भी बढ़ेगी। इन 7 राज्‍यों में मुख्‍य रूप से दिल्‍ली, मध्‍य प्रदेश, राजस्‍थान और उत्‍तर प्रदेश के कई शहर हैं। पंजाब, हरियाणा, राजस्थान के उत्तरी भागों, दिल्ली-एनसीआर और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में तकरीबन 15 सितंबर के बाद से मौसम शुष्क बना हुआ है। एक सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत में जम्मू कश्मीर के करीब पहुंचने वाला है

इस सिस्टम का प्रभाव कल से दिखेगा। उत्तर भारत के मैदानी क्षेत्रों से इस साल मॉनसून विदाई से लगभग 1 माह पहले से ही काफी कमजोर हो गया था और बारिश की गतिविधियां सितंबर के पहले पखवाड़े के बाद से ही बहुत कम हो गई थी। जानिये देश में कहां कैसा मौसम रहेगा।

दिल्ली और एनसीआर के शहरों में भी 15 नवंबर को यानी दीपावली के अगले दिन कुछ स्थानों पर वर्षा देखने को मिल सकती है। कुछ हद तक दिन के तापमान में गिरावट और प्रदूषण से राहत की अपेक्षा की जा सकती है।

14-16 नवंबर को राजस्थान में श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, चूरू, झुंझुनू, अलवर, जयपुर, भरतपुर, करौली, दौसा, धौलपुर में भी हल्की वर्षा होने की संभावना है।

14-16 नवंबर को उत्तर प्रदेश में आगरा, मथुरा, हाथरस, अलीगढ़, कासगंज, बुलंदशहर, बदायूं, मेरठ, हापुड़, मुरादाबाद, बिजनौर, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, शामली, बागपत, गाजियाबाद में हल्की वर्षा हो सकती है।

14-16 नवंबर को हरियाणा में भी पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, कैथल, करनाल, जींद, फतेहाबाद, सिरसा, हिसार, महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, चरखी दादरी, झज्जर, फरीदाबाद, पलवल में वर्षा देखने को मिल सकती है।

14-16 नवंबर को पंजाब में पठानकोट, गुरदासपुर, अमृतसर, तरनतारन, होशियारपुर, कपूरथला, जालंधर, लुधियाना, बरनाला, संगरूर, पटियाला, बठिंडा, श्रीमुक्तसर साहिब, फाजिल्का, फरीदकोट, फिरोजपुर में गर्जना के साथ हल्की वर्षा हो सकती है।

14 या 15 नवंबर को एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र पश्चिमी विश्व के प्रभाव से विकसित होगा, जो पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, उत्तर पूर्वी राजस्थान में 15 और 16 नवंबर को वर्षा दे सकता है।

अगले 24 घंटों के दौरान जम्मू कश्मीर, गिलगित बाल्टिस्तान और मुज़फ़्फ़राबाद के ऊंचाई वाले हिस्सों में हल्की बारिश और हिमपात शुरू होने की संभावना है। हिमाचल प्रदेश में भी एक-दो स्थानों पर गतिविधियां शुरू हो सकती हैं।

अगले 24 घंटों के दौरान रायलसीमा, आंतरिक तमिलनाडु, केरल और दक्षिणी आंतरिक कर्नाटक में हल्की बारिश के बीच कुछ स्थानों पर मध्यम बौछारें गिर सकती हैं।

अगले 24 घंटों के दौरान आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु के साथ-साथ अंडमान व निकोबार द्वीपसमूह में कई जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश के आसार हैं।

पिछले 24 घंटों के दौरान उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में हवाओं के रुख बदलाव होने से दिल्ली प्रदूषण कुछ हद तक कम हो गया है। वायु गुणवत्ता में सुधार दिखाई दिया!








No comments