Breaking News

18 घंटे बाद व्‍यापारी के शव का अंतिम संस्‍कार, पूर्व कैबिनेट मंत्री राजा भैया के आश्‍वासन पर माने लोग Dainik Mail 24

 


प्रतापगढ़। जनपद के कुंडा में व्‍यापारी के शव को 18 घंटे बाद अंतिम संस्‍कार के लिए ले जाया गया। व्‍यापारी का शव कानपुर से शुक्रवार की देर शाम यहां लाया गया था। शनिवार को अंतिम संस्‍कार की बात परिवार ने कही थी। हलांकि सुबह वह हत्‍या का आरोप लगाते हुए नारेबाजी करने लगे। स्‍थानीय व्‍यापारियों ने अपनी दुकानें बंद कर उनके साथ विरोध विरोध जताया। वे डीएम को बुलाने की मांग कर रहे थे। इसी बीच दोपर में कुंडा विधायक व पूर्व कैबिनेट मंत्री कुंवर रघुराज प्रताप सिंह राजा भैया पीड़ित परिवार के घर पहुंचे और कार्रवाई का आश्‍वासन दिया। तब जाकर मामला शांत हुआ।

             कानपुर से कुंडा लाया गया था व्‍यापारी का शव । कुंडा कोतवाली क्षेत्र के कस्बा प्रेम नगर निवासी रामकृष्ण केसरवानी बुधवार की सुबह दुकान खोलने के लिए गए थे। हालांकि वह न वापस घर लौटे और न ही दुकान ही पहुंचे। उनके पिता रामसेवक ने थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। रामकृष्‍ण का शव कानपुर के साढ़ थाना इलाके के बारी गांव के निकट मिला था। उनका शव कानपुर से शुक्रवार की देर शाम घर पहुंचा था। रात करीब 9:00 बजे राम कृष्ण केसरवानी की पत्नी अंजना ने 4 सूत्री मांग  पत्र एसडीएम को सौंपकर शनिवार की सुबह शव के अंतिम संस्कार की बात कही थी। शनिवार की सुबह स्वजन व कुंडा के व्यापारी बात से नाराज हो गए कि व्यापारी की कानपुर में ले जाकर हत्या की गई, लेकिन डीएम साहब पीड़ित परिवार के घर नहीं पहुंचे। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने सीएम राहत कोष से आर्थिक मदद दिलाने का आश्वासन दिया ।

        डीएम के कुंडा न पहुंचने से नाराज व्यापारियों ने अपनी दुकानें बंद कर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। कहा कि जब तक डीएम पीड़ित परिवार के घर पहुंचकर जल्द से जल्द कार्रवाई का आश्वासन नहीं देते, तब तक शव का अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा। इसी बीच दोपहर करीब 1.30 बजे कुंडा विधायक वह पूर्व कैबिनेट मंत्री कुंवर रघुराज प्रताप सिंह राजा भैया पीड़ित परिवार के घर पहुंचे और जल्द से जल्द कार्रवाई का आश्वासन देते हुए पीड़ित परिवार को मुख्यमंत्री राहत कोष से आर्थिक मदद दिलाए जाने का आश्वासन दिया। राजा भैया ने एक लाख रुपये की आर्थिक मदद की ।पूर्व कैबिनेट मंत्री राजा भैया ने पीड़ित परिवार को त्वरित आर्थिक मदद देते हुए एक लाख रुपये भी दिए। राजा भैया के आश्वासन के बाद व्यापारी के शव के अंतिम संस्कार करने के लिए परिवार के लोग तैयार हो गए। इसके बाद प्रशासन ने भी राहत की सांस ली।








No comments