Breaking News

हाथरस काण्ड मे सीबीआई की चार्जशीट से प्रदेश सरकार के झूठ व सच छिपाने की साजिश नाकाम : विधायक मोना Dainik mail 24

 

सीएलपी लीडर आराधना मिश्रा मोना ने कहा कि कांग्रेस के संघर्ष व कोर्ट तथा मीडिया के सहयोग से पीडित परिवार को मिला न्याय


लालगंज, प्रतापगढ़। प्रदेश कांग्रेस विधानमण्डल दल नेता व रामपुरखास की विधायक आराधना मिश्रा मोना ने हाथरस काण्ड मे सीबीआई की चार्जशीट ने उत्तर प्रदेश सरकार की कथनी को झूठा साबित करते हुए सच छिपाने की साजिश को नाकाम कर दिया है। सीबीआई की रिर्पोट से साफ हो गया है कि हाथरस की बिटिया के साथ निर्दयतापूर्वक दुष्कर्म किया गया और यातनाएं देकर उसकी हत्या कर दी गई। प्रदेश मे हर स्तर पर कोशिश की गई कि हत्यारे अपने कुकर्म के आरोप से बच जाएं लेकिन कांग्रेस सांसद राहुल गांधी व पार्टी की महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी के संघर्ष से पीडित परिवार को न्याय मिला। मीडिया प्रभारी ज्ञानप्रकाश शुक्ल के हवाले से जारी विज्ञप्ति मे विधायक मोना ने हाईकोर्ट के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उसकी मॉनीटरिंग के चलते सीबीआई जांच पूरी हो सकी। उन्होनें देश की मीडिया के प्रति भी पीड़ित परिवार के साथ कठिन समय मे खड़े रहने के लिए आभार जताया है। विधायक मोना ने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार ने अपने अधिकारों का दुरूपयोग करते हुए उस जिलाधिकारी को पद पर बनाये रखा जिसने पीड़िता के परिवार को धमकाने के साथ ही सच्चाई को छिपाने के लिए अपना हर संभव प्रयास करते हुए कानून से खिलवाड़ किया। उन्होनें कहा कि हाथरस की बिटिया के साथ दुष्कर्म व बाद मे हत्या की सच्चाई सामने जब आ गई तो ऐसे मे रात्रि के अंधेरे मे हिन्दू संस्कार के विपरीत परिजनों को बंद करके पीड़िता की चिता जलाने व साक्ष्य मिटाने का प्रयास करने वाले आरोपियो के खिलाफ कठोर धाराओं मे मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। उन्होनंे कहा कि जब सीबीआई ने चार्जशीट दाखिल करने के साथ हाथरस की घटना को सच माना है तो ऐसे मे प्रदेश सरकार अपनी जबाबदेही मानते हुए नैतिकता के आधार पर त्यागपत्र दे देना चाहिए।








No comments