Breaking News

राम के आदर्शो का आत्मसात् कर भारत को दिलायें विश्वगुरू का दर्जा - गोविंद भाई Dainik Mail 24

 

रामपुर भेड़ियानी मे सुनिये कथा रघुनाथ की मे उमड़े श्रद्धालु


लक्ष्मणपुर, प्रतापगढ़। क्षेत्र के रामपुर भेडियानी गावं मे हो रही नौ दिवसीय संगीतमयी सुनिये कथा रघुनाथ की को सुनने के लिए सोमवार को श्रद्धालुओं की भीड़ उमडी। मानव कल्याण सेवा संस्थान के संयोजन मे कथा विश्राम दिवस पर बोलते हुए कथा व्यास श्री गोविंद भाई जी बद्री नाथ धाम ने कहा कि आज समाज को ऐसी आवश्यकता है कि वह प्रभु श्रीराम के आदर्शाे से सीखे उनका अनुसरण करें। उन्होनें श्रद्धालुओं से कहा कि वह श्रीराम की कथा को अपने मे आत्मसात करने का प्रयत्न करें तभी भारत को विश्व गुरु बनने का अवसर मिल सकेगा। उन्होंने मनुष्य मे मनुष्य व जीवो के प्रति प्रेम भाव का व्यवहार रखने का आहवान भी किया। कथाव्यास ने प्रभु श्रीराम का हनुमान सुग्रीव की मित्रता लंका दहन रामेश्वर स्थापना श्री राम सेतु निर्माण एवम पूरी सेना व परिवार सहित रावण वध और माता सीता की अग्नि परीक्षा विभीषण का राजतिलक व फिर पुष्पक विमान द्वारा तमाम ऋषि मुनियों का आशीर्वाद प्राप्त कर पुनः अयोध्या आगमन और श्री राम का राज्याभिषेक तक के सभी प्रसंगों को रोचक ढंग से प्रस्तुत किया। कथा सुनकर पांडाल मे उपस्थित रामभक्त मंत्रमुग्ध हो उठे। श्रीराम कथा आयोजन समिति के संयोजक पं. श्याम शंकर पान्डेय अध्यक्ष पं शिव नारायण पान्डेय व संचालक पं कृष्ण देव शुक्ला व प्रचार मंत्री शिवपवन दुबे  जी द्वारा कथा श्री गोविंद भाई जी व अन्य आचार्याे  को अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया। भजन गायक सतीश चंद्र पान्डेय बलराम ने भजन सबकै बिगङी बनाया हमार सुधि काहे भुलाया गाया तो पूरा पांडाल झूम उठा। इसके बाद हुई महाआरती मे भी श्रद्धालुओं ने श्रीराम की स्तुति की। इस मौके पर विनोद कुमार शुक्ल, रामलखन मिश्रा, प्रफुल्ल चंद्र पान्डेय, सरसिज तिवारी, विनोद कुमार मिश्रा, कौशलेन्द्र शुक्ला, आलोक तिवारी, रामराज पान्डेय, बृजेश मिश्रा, शिवपूजन पान्डेय, चंचल तिवारी, राजित राम पान्डेय, मनोज दुबे, नितिन पान्डेय, उमेश पान्डेय, अंबिका पान्डेय, रामचंद्र शुक्ल, संजय शुक्ला, राजीव तिवारी, कुलदीप शुक्ला, गिरीश पान्डेय आदि रहे।








No comments