Breaking News

मतदाता सूची मे धांधली को लेकर हुई शिकायत Dainik Mail 24

 

लक्ष्मणपुर,प्रतापगढ़। सगरा सुंदरपुर ग्राम सभा में जो बीएलओ के द्वारा सूची बनाई जा रही है उसमें बहुत ही धांधली की जा रही है कहीं न कहीं राजनीतिज्ञ लोग इसमें हस्तक्षेप कर रहे हैं इसका जीता जागता उदाहरण तब मिला जब वोटर लिस्ट जनता के सामने उजागर हुई ऐसे राजनीति करने वाले लोग अपने वोटरों का नाम भले ही वो ग्राम सभा के बाहर के हो तब भी डलवा दिया जाता है अगर वह उनके विरोधी हैं और इसी ग्रामसभा के हैं तो पूरे घर का ही नाम कटा दिया जाता है यही नहीं मिली जानकारी के अनुसार जो 20 साल से 10 साल से मृत घोषित हो गए हैं उनका नाम आज तक नहीं काटा गया क्योंकि वही तो उनका हथियार होता है एक वार्ड में अगर 15 नाम मृतक के पाए जा रहे हैं तो 15 वार्ड सगरा सुंदरपुर ग्राम सभा में  है तो 225 नाम वोटरों के वह फ्री में पाए जा रहे हैं क्योंकि एक  कहावत गांव मे है कि गाँव की बुद्धि जीवी महिलाएं पात्र मे रखा एक चावल टो कर उस चावल को चूल्हे से ऊतार देती है जो कि वह अपना हथियार समझ रहे हैं बूथ पर 225 वोट डलवा देंगे और उसे जान भी कौन  पायेगा  क्योंकि लोग तो यही जानेंगे कि ये मर चुके हैं। जब यह जानकारी मैंने बीएलओ से ली तो बीएलओ ने अपने कार्यों की लिस्ट जो कि वह अपने अधिकारियों को दिए थे उजागर की उसमें दिखा कि हां यह लोग मृत लोगों का नाम काटे हुए थे जिनका नाम काटा गया है वह लोग उसमें थे  सोचने वाली बात यह है कि वह मृत वाला नाम कैसे जुड़ गया और जो पहले से उसमें नाम थे उस नाम को कैसे काटा गया यही नहीं कुछ लोगों ने लालगंज उप जिलाधिकारी महोदय को इसके विषय में प्रार्थना पत्र और खंड विकास अधिकारी महोदय लक्ष्मणपुर को भी नई वोटर लिस्ट  देखते हुए प्रार्थना पत्र दिया है मुझे मिली जानकारी के अनुसार इसमे बीएलओ की कोई गलती नही दिखी मगर मुझे ब्लाक और तहसील मे बैठे आला अधिकारी जो यह कहते मिले यह बीएलओ का काम है उनकी गलती जरूर दिखी क्योंकि बीएलओ जमीनी स्तर पर काम करके अपने आलाधिकारियों को अपनी रिपोर्ट दिया,अब वे अपने  थोड़े से स्वार्थ के लिए किसका नाम फीड कर रहे हैं और किसका नहीं कर रहे हैं और किसका किसी बड़े राजनीति व्यक्ति के कहने पर पूरे घर का नाम हटा दे रहे और जब लोग ब्लॉक और तहसील के  चक्कर लगाते हैं तो यह कह कर पल्ला झाड़ लेते हैं यह काम बीएलओ का है और सारी गलती इसमें बीएलओ की है यह मेरे अधिकार क्षेत्र से बाहर है ऐसा कहते हुए पल्ला झाड़ लेते हैं और पर्दे के पीछे से मलाई स्वयं खाते हैं इसके साथ-साथ जनता का सीधे-सीधे अहित करते हैं और उनके अधिकार का भी हनन करते हैं यह कहां का न्याय है







No comments