Breaking News

अरूणांचल मे चीन का गांव बसाया जाना राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए चिंतनीय घटनाचक्र- प्रमोद तिवारी Dainik mail 24

 

सीडब्लूसी मेंबर ने गाबा मे भारतीय क्रिकेट की जीत को बताया गौरवपूर्ण उपलब्धि, कमला हैरिस के यूएएस उप राष्ट्रपति को देश की बेटियों का ठहराया असंभव को संभव की क्षमता का जज्बा



लालगंज, प्रतापगढ़। कांग्रेस वर्किग कमेटी के सदस्य तथा प्रदेश आउटरीच एण्ड कोआर्डिनेशन कमेटी के प्रभारी प्रमोद तिवारी ने केंद्र सरकार पर राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े संवेदनशील मसलों पर भी गैर जिम्मेदारानापन को लेकर कड़ा हमला बोला है। प्रमोद तिवारी ने हाल ही मे सेटेलाइट से आयी तस्वीरों तथा इलेक्ट्रॉनिक चैनलों के फुटेज के जरिए अरूणांचल प्रदेश मे चीन के द्वारा संवेदनशील भू-भाग पर एक सौ दस घरों के जरिए एक गांव के निर्माण करा लेने को राष्ट्रीय सम्मान व सुरक्षा के प्रति गंभीर स्थिति करार दिया है। बुधवार को नगर स्थित कैम्प कार्यालय पर मीडिया से रूबरू सीडब्लूसी मेंबर प्रमोद तिवारी ने कहा कि पहले चीन ने लददाख तथा भूटान और अब अरूणांचल प्रदेश मे अपनी नापाक हरकतो से समूचे देश को चिंतित किये हुए है। श्री तिवारी ने आस्टेªलिया के अजय गाबा मैदान पर भारतीय क्रिकेट टीम के ऐतिहासिक प्रदर्शन के जरिए मिली विजयश्री को भी समूचे देश के लिए गौरव की अनुभूति करार दिया है। उन्होनें भारतीय खिलाडियो के खेल के मैदान पर गालियों का भी धैर्य व संयम से मुकाबला करते हुए देश को दिलाई गई जीत पर कहा कि इस तरह भारतीय टीम ने क्रिकेट की स्लेजिंग का जबाब बेहतर प्रदर्शन से देकर राजनीति के क्षेत्र मे भी सकारात्मक भूमिका के मजबूत पक्ष का संदेश दिया है। प्रमोद तिवारी ने मुम्बई क्राइम ब्रांच के द्वारा अर्नब गोस्वामी के खिलाफ एक हजार पेज की व्हॉटस्एप की चैट्स को लेकर दाखिल आरोप पत्र को भी राष्ट्रीय सुरक्षा से जुडा गंभीर प्रकरण करार दिया है। बकौल प्रमोद तिवारी इस गंभीर मामले मे केंद्र सरकार को पता लगाना चाहिए कि चार्जशीट मे जिस तरह का डाक्यूमेंट्री सबूत सामने आया है, उसके तार कहां तक जुडे है। उन्होने बलपूर्वक कहा कि देश यह जानना चाहता है कि आखिर अर्नब गोस्वामी को दो साल पहले हुए बालाकोट हमले की जानकारी हमला होने के पहले कैसे हो गई थी। प्रमोद तिवारी ने कड़े अंदाज मे कहा कि यह राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ भारतीय सेना और लोगों के जीवन से जुडा अहम प्रश्न होने के साथ ऑफिसियल सीक्रेट एक्ट का भी उल्लंघन है। उन्होनें केंद्र सरकार से इस गंभीर मसले की उच्चस्तरीय जांच कराए जाने को कहा है। उन्होनें स्पष्ट किया कि राष्ट्रनीति और राष्ट्रीय सुरक्षा नीति के दायरे मे ही इस प्रकरण को सीमित रखते हुए जांच मे किसी भी प्रकार की राजनीति देशहित पर आघात होगा। वहीं श्री तिवारी ने अमेरिका मे राष्ट्रपति जो बाइडेन के शपथ ग्रहण के तहत भारतीय मूल की कमला हैरिस के उप राष्ट्रपति बनने को भी देश के लिए गौरव का क्षण ठहराया है। श्री तिवारी ने कहा कि कमला हैरिस की यह उपलब्धि पूरी दुनिया मे यह साबित कर रही है कि भारत देश की बेटियां असम्भव कार्य को भी दुनिया के किसी भी क्षेत्र मे संभव बनाने मे पूरी तरह सक्षम है। हालांकि सीडब्लूसी मेंबर प्रमोद तिवारी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से दोबारा विदेश नीति को लेकर हाउडी मोदी व नमस्ते ट्रंप जैसे कार्यक्रमों से बचते हुए इवेंट से भी दूर रहने को कहा है। श्री तिवारी ने कहा कि मोदी सरकार को विदेश नीति को नुकसान पहुंचाने वाली भूल से अब पूरी तरह परहेज करते हुए भारत अमेरिका के सम्बन्धों को मजबूत बनाने पर जोर देना चाहिये। उन्होनें कहा कि देश के नेतृत्व को इस प्रकार की कोई भूमिका नहीं तैयार करनी चाहिये कि अमेरिका मे भारतीय मूल के लाखों लोगों को तक कूटनीतिक भूल की कीमत चुकानी पड़े। इसके पूर्व प्रमोद तिवारी ने बाबा घुइसरनाथ धाम मे पहुंचकर यहां जारी विकास कार्यो का अवलोकन किया। एक दिवसीय दौरे मे श्री तिवारी ने टोडरपुर दलापटटी गांव पहुंचकर पूर्व प्रमुख रामकृपाल पासी के पिता के निधन पर संवेदना प्रकट की। वहीं कैथौला गांव मे प्रमोद तिवारी लालगंज प्रमुख सुरेन्द्र सिंह ददन की मां की स्मृति मे आयोजित कार्यक्रम मे शामिल हुये। इस मौके पर प्रतिनिधि भगवती प्रसाद तिवारी, मीडिया प्रभारी ज्ञानप्रकाश शुक्ल, सांगीपुर प्रमुख अशोक सिंह बब्लू, चेयरपर्सन प्रतिनिधि संतोष द्विवेदी, सुधाकर पाण्डेय, रामबोध शुक्ल, दृगपाल यादव, आशीष उपाध्याय, पवन शुक्ल, अवधेश सिंह, अरविंद मिश्र, गुडडू सिंह, महेन्द्र सिंह, केडी मिश्र, पप्पू तिवारी, छोटे लाल सरोज, सुधीर तिवारी, रामचंद्र तिवारी, लाल गीतेश्वर प्रताप सिंह आदि रहे।








No comments