Breaking News

महराजगंज (उ०प्र०)मिस्ड कॉल से शुरू हुए प्यार में फना, हत्याकांड में भाई और पिता के साथ सलाखों के पीछे पहुंची प्रेमिका Dainik mail 24

 

रिपोर्ट-स्वरूप श्रीवास्तव महराजगंज 03-01-2021



ये इश्क़ नहीं आसाँ इतना ही समझ लीजे 

इक आग का दरिया है और डूब के जाना है 

..जिगर मुरादाबादी की यह पंक्तियां बृजमनगंज क्षेत्र के सिकन्दराजीतपुर बंधे पर हुई हत्याकांड से पूरी तरह बावस्ता है। मिस्डकाल से शुरू हुई मोहब्बत के अफसाने की कहानी परसामलिक थानाक्षेत्र के असुरैना टोला कुकेसर निवासी दुर्विजय हत्याकांड के बाद खत्म हुई। इस मामले में रविवार को महराजगंज पुलिस ने दुर्विजय की प्रेमिका, उसके पिता और भाई को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

पुलिस अधीक्षक कार्यालय में रविवार को एसपी प्रदीप गुप्ता ने हत्याकांड के रहस्य से पर्दा हटाया। बताया कि बृजमनगंज थानाक्षेत्र के सिकन्दराजीतपुर बंधे के पास 28 दिसंबर को एक अज्ञात युवक का शव मिला था। युवक की पहचान परसामलिक थानाक्षेत्र के असुरैना टोला कुकेसर निवासी दुर्विजय के रूप में हुई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की वजह गला दबाकर हत्या बताई गई। सर्विलांस के जरिए जांच में पता चला कि दुर्विजय की गोरखपुर जनपद के कैम्पियरगंज थानाक्षेत्र के बड़ुआ टोला गौरा की रहने वाली श्यामा नाम की एक लड़की से मोबाइल पर लंबी-लंबी बातें हुई थी। जांच का दायरा बढ़ने पर यह जानकारी सामने आयी कि दुर्विजय मुम्बई में श्यामा के पिता संजय सिंह व उसके भाई शेरू सिंह उर्फ अभय सिंह के साथ ट्रेलर ट्रक चलाते थे। जांच आगे बढ़ी तो यह सच्चाई सामने आई कि एक बार संजय ने दुर्विजय की मोबाइल से अपनी बेटी श्यामा के मोबाइल नम्बर पर फोन किया था। बाद में श्यामा जब उस नम्बर पर मिस्ड काल दी तो दुर्विजय व उसके बीच मोबाइल पर बातचीत शुरू हो गई। यह बात संजय सिंह को बुरी लगी। 27 दिसंबर को श्यामा दुर्विजय को फोन कर मिलने के लिए बुलाई। जैसे वह खिड़की के रास्ते कमरे में घुसा वैसे ही श्यामा  ने शोर मचा दिया। इसके बाद परिजनों ने दुर्विजय को दौड़ा कर पकड़ लिया। 


खंभे से बांध हुई थी पिटाई, रस्सी से गला दबाकर हुई थी हत्या 


दुर्विजय को पकड़ने के बाद श्यामा के पिता संजय सिंह व उसके भाई शेरू उर्फ अभय सिंह ने श्यामा के साथ मिल कर दुर्विजय को घर के खंभे में बांध बेरहमी से पीटा था। भोर में पल्सर बाइक पर दुर्विजय को बीच में बैठाकर धानी-खड़खड़िया पुल होते हुए धानी कस्बे के रास्ते सिकन्दराजीपुर बंधे पर पहुंचे। वहां रस्सी से गला कर हत्या कर दिया। शव को फेंक वापस आ गए। 

षड्यंत्र के आरोप में बेटी भी पिता व भाई के साथ गई जेल 

एसपी प्रदीप गुप्ता ने बताया कि इस प्रकरण में बृजमनगंज पुलिस ने धारा 302, 201, 120 बी व 34 आईपीसी के तहत केस दर्ज किया है। एसओ बृजमनगंज संजय दूबे, एसआई श्रवण सिंह व सिपाही शिवेन्द्र शाही, सुशील उपाध्याय, रतन जायसवाल, अजय कुमार व महिला कांस्टेबिल विनीता यादव ने सिकड़ा चौराहा से रविवार सुबह साढ़े आठ बजे दुर्विजय हत्याकांड में आरोपित संजय सिंह, शेरू उर्फ अभय सिंह व श्यामा को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उन्होंने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया। इसके बाद तीनों आरोपितों को जेल भेज दिया गया!








No comments