Breaking News

अमेठी: मृत अवस्था में राष्ट्रीय पक्षी मोर का मिला शव,इलाके में हड़कंप Dainik mail 24

 

रिपोर्टर - वेद प्रकाश ओझा

 


अमेठी: राष्ट्रीय पंक्षी मोर मृत अवस्था में पाया गया बताते चले ग्रामीण शौचालय से वापस लौट रहे थे तो देखा दीपक जायसवाल के बगल में मृत अवस्था में पड़ा मिला। इस सम्बंध में उपजिलाधिकारी महात्मा सिह ने बताया कि पशुचिकित्सक को भेज कर मृत के कारणो की जांच कराई जा गई।

तिलोई के कोतवाली मोहनगंज के ग्राम चेतरा बुर्जुग गांव के बगल में झाड़ियों में राष्ट्रीय पक्षी मोर मृत अवस्था में पडा हुआ था ग्रामीणों देखा की दीपक जायसवाल के घर के बगल कुछ दूरी पर पर्सी का ताल के पास एक मोर झाड़ी में मरा पड़ा हुआ है उसके पास जाकर के देखा गया तो वह दम तोड़ चुका था पक्षी के मौत का कारण अब तक किसी को कुछ भी पता नहीं है कि कैसे क्या हुआ जिसके वजह से इसकी मौत हो गई ग्रामीणों की सूचना पर क्षेत्रीय पशु चिकित्सा अधिकारी मौके पर पहुंच कर मोर के शव को कब्जे में लिया।


उपजिलाधिकारी तिलोई महात्मा सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि घटना की जानकारी मुझे प्राप्त हुई है हल्का लेखपाल व पशु चिकित्सा टीम को भेजकर राष्ट्रीय पक्षी मोर के शव को कब्जे में लिया गया है मोर की मौत के कारणों की जानकारी के लिए प्रशिक्षण जांच हेतु भेजा गया है।: राष्ट्रीय पंक्षी मोर मृत अवस्था में पाया गया बताते चले प्रातः ग्रामीण शौचालय से वापस लौट रहे थे तो देखा दीपक जायसवाल के बगल में मृत अवस्था में पड़ा मिला। इस सम्बंध में उपजिलाधिकारी महात्मा सिह ने बताया कि पशुचिकित्सक को भेज कर मृत के कारणो की जांच कराई जा गई।

बताते चलें कि तहसील तिलोई क्षेत्र के कोतवाली मोहनगंज के ग्राम चेतरा बुर्जुग गांव के बगल में झाड़ियों में राष्ट्रीय पक्षी मोर मृत अवस्था में पडा हुआ था ग्रामीणों ने दिन शनिवार प्रातः देखा की दीपक जायसवाल के घर के बगल कुछ दूरी पर पर्सी का ताल के पास एक मोर झाड़ी में मरा पड़ा हुआ है उसके पास जाकर के देखा गया तो वह दम तोड़ चुका था पक्षी के मौत का कारण अब तक किसी को कुछ भी पता नहीं है कि कैसे क्या हुआ जिसके वजह से इसकी मौत हो गई ग्रामीणों की सूचना पर क्षेत्रीय पशु चिकित्सा अधिकारी मौके पर पहुंच कर मोर के शव को कब्जे में लिया। उक्त प्रकरण में उपजिलाधिकारी तिलोई महात्मा सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि घटना की जानकारी मुझे प्राप्त हुई है हल्का लेखपाल व पशु चिकित्सा टीम को भेजकर राष्ट्रीय पक्षी मोर के शव को कब्जे में लिया गया है मोर की मौत के कारणों की जानकारी के लिए प्रशिक्षण जांच हेतु भेजा गया है








No comments