Breaking News

गरीब, असहाय की सेवा सबसे बड़ा पुण्य और धर्म - राजकुमारी रत्ना सिंह Dainik mail 24

 

नीलम असहाय सेवा संस्थान के तीसरे स्थापना दिवस समारोह में बतौर मुख्यातिथि पूर्व सांसद और उनके पुत्र भुवन्यू सिंह हुए शामिल




प्रतापगढ़ ।लालगंज के चांदीपुर कलाभदारी में नीलम असहाय सेवा संस्थान के आज तीसरे स्थापना दिवस पर भव्य समारोह आयोजित हुआ।बतौर मुख्यातिथि प्रतापगढ़ की पूर्व सांसद और कालाकांकर राजघराने की राजकुमारी रत्ना सिंह और विशिष्ट अतिथि के रूप में रामपुरखास में अपने मिलनसार व्यक्तित्व से जनमानस में तेजी से लोकप्रिय हो रहे युवराज भुवन्यू सिंह रहे।कार्यक्रम में मौजूद लोगों को सम्बोधित करते हुए राजकुमारी रत्ना सिंह ने कहा "गरीब, असहाय की सेवा सबसे बड़ा पुण्य और धर्म है।मैं और मेरी संस्था कालाकांकर फाउंडेशन भी ऐसे नेक कार्य में लगे हुए हैं।नीलम असहाय सेवा संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष हरकेश विश्वकर्मा बाबाजी द्वारा संस्थान अपने लक्ष्यों को सफलता पूर्वक प्राप्त करे, मेरी शुभकामनाएं और सहयोग सदैव इनके साथ है।



 युवराज भुवन्यू सिंह ने अपने उद्बोधन में कहा कि "मैं हरकेश विश्वकर्मा बाबाजी द्वारा समाज के ऐसे वर्ग जो पिछड़े ,गरीब और असहाय हैं , उनके मदद के लिए ऐसे संस्थान की स्थापना करने के लिए कोटिशः धन्यवाद देता हूँ।यह संस्थान ज्यादा से ज़्यादा लोगों को अपनी सेवा का लाभ देकर बुलंदियों को छुए इसकी शुभकामनाएं देता हूँ।लालगंज से कार्यक्रम स्थल तक सैकड़ों मोटरसाइकिल के काफिले के साथ युवा नेता उदय अमन सिंह के नेतृत्व में स्वागत हुआ।इसके पश्चात संस्थान द्वारा राजकुमारी रत्ना सिंह और युवराज भुवन्यू सिंह के हांथो कम्बल वितरण किया गया। उक्त अवसर पर संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष हरकेश विश्वकर्मा, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नीलम विश्वकर्मा , उपाध्यक्ष शानू विश्वकर्मा,महामंत्री श्री कृष्ण विश्वकर्मा,सचिव राजकुमार दुबे, कोषाध्यक्ष संतोष वर्मा,अजय सिंह,हरकिशन पटेल, वंदना वर्मा अवधेश सिंह,अजय सिंह, रामबरन वर्मा ,सुभाष प्रजापति ,संजय विश्वकर्मा, उदय राज वर्मा,  प्रधानाचार्य सुरेश सिंह, अयोध्या प्रसाद,संगीता वर्मा सहित संस्थान के समस्त पदाधिकारी और क्षेत्रीय जनमानस मौजूद रहे।









No comments