Breaking News

नाबालिग से दुराचार के आरोपी को न्यायालय ने किया दोषमुक्त Dainik mail 24

 

*रिपोर्ट शिवम् शुक्ला ब्यूरो चीफ दैनिक मेल न्यूज 24 अमेठी*



*अमेठी-* मामला सुल्तानपुर जनपद के कोतवाली देहात थाना अंतर्गत गांव बरूई कुटिया से संबंधित है घटना दिनांक  7 -1- 2017 17 की है कथित घटना की पीड़िता गांव के बाहर कन्या पाठशाला पर मेला देखने जा रही थी वहीं पर अभियुक्त अनिल यादव पुत्र सीताराम यादव निवासी बरूई कुटीवा ने पीड़िता को अरहर के खेत में ले जाकर उसके साथ गलत काम किया था घटना की रिपोर्ट पीड़िता की मां ने थाने पर अभियुक्त के विरुद्ध लिख आया था जिसमें अभियुक्त अनिल यादव के विरुद्ध आरोप पत्र पुलिस ने विवेचना के बाद न्यायालय में दाखिल किया था न्यायालय द्वारा अनिल यादव के विरुद्ध आरोप तय करने के बाद उसके विरुद्ध मुकदमा चलाया गया जिसमें अभियोजन पक्ष से वादिनी मुकदमा पीड़िता विवेचक वाह डॉक्टर का बयान न्यायालय के समक्ष मुकदमे के विचारण के समय हुआ अभियुक्त अनिल यादव के फौजदारी के अधिवक्ता रवि शुक्ला द्वारा गवाहों से जिरह की गई जिसमें गवाहों ने घटना के संबंध में विरोधाभासी बयान न्यायालय के समक्ष दिए पीड़िता की मां ने अभियुक्त अनिल यादव के पिता सीताराम यादव के खिलाफ जमीन का मुकदमा कलेक्ट्री में दायर किया था जिसमें अनिल यादव के पिता सीताराम यादव के पक्ष में आदेश हुआ था जिस बात की रंजिश पीड़िता की मां अभियुक्त वा  उसके पिता से  रखती थी  पीड़िता पीड़िता के परिवार से अभियुक्त के विरुद्ध पहले भी एक मुकदमा छेड़खानी का न्यायालय में दायर किया गया था जिसमें घटना को असत्य मानते हुए न्यायालय ने उक्त मुकदमे को भी खारिज कर दिया था अभियुक्त के अधिवक्ता ने जमीन वाली रंजिश को अभिलेखीय प्रपत्रों  के माध्यम से न्यायालय के समक्ष साबित भी किया अभियोजन के गवाहों ने घटना को साबित नहीं किया अभियोजन पक्ष के अधिवक्ता अभियुक्त के फौजदारी के अधिवक्ता रवि शुक्ला के मध्य बहस चली जिसमें उपरोक्त मुकदमे में दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद अपर सत्र न्यायाधीश स्पेशल जज पॉक्सो एक्ट राहुल प्रकाश में अभियुक्त अनिल यादव कोउपरोक्त अभियोग में दिनांक 22-3-2021 को निणर्य सुनाते हुए  दोषमुक्त करार दिया माननीय न्यायालय ने यह माना कि अभियोजन पक्ष संदेह की सीमा से परे अभियोजन केस को साबित करने में असफल रहा अभियुक्त अनिल यादव घटना के बाद से जनपद कारागार सुल्तानपुर में बन्द रहा।








No comments