Breaking News

जीवन और मौत के बीच संघर्ष कर रहे लोगों से बेपरवाह पीएम चला रहे सियासत के तीर- प्रमोद तिवारी Dainik mail 24

 


लालगंज, प्रतापगढ़। केन्द्रीय कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य प्रमोद तिवारी ने गुरूवार को फिर मोदी सरकार पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि सरकार की अनदेखी के चलते देश की जनता जीवन रक्षा के लिए पहली बार अस्पतालों और सडकों पर इलाज के अभाव मंे तड़प रही है। विकास की गति भी प्रधानमंत्री और गृहमंत्री के चुनावी व्यस्तता के चलते सबसे मंदे दौर में भविष्य को खतरनाक सूचकांक दे रही है। सीडब्लूसी मेंबर प्रमोद तिवारी ने गुरूवार को नगर स्थित कैम्प कार्यालय पर पत्रकारों से रूबरू होते हुए श्री तिवारी ने देश को कोरोना संक्रमितो की रैंक में पूरी दुनिया मे दूसरे नंबर पर आने को चिंताजनक ठहराया है। हालांकि प्रमोद तिवारी ने कहा कि यह भयानक तस्वीर इससे भी अधिक भयावह है क्योकि ग्रामीण अंचलो मे बहुत सी जगहो पर अभी भी कोरोना की टेस्टिंग नही हो पा रही है और लोग या तो कोरोना से संक्रमित हो रहे है अथवा खुद ठीक हो रहे हैं या फिर विवशता के बीच उनकी मौतें हो रही है। श्री तिवारी ने कहा कि कोरोना की वीभत्सता के बावजूद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और देश के गृहमंत्री चुनाव प्रचार में भाषणबाजी और कटाक्ष भरा अभिनय करते हुए हंस भी रहे हैं तथा दीदी ओ दीदी के गीत सुना रहे है। कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य प्रमोद ने तंज कसा कि ऐसा देश पहली बार देख रहा है कि बडी संख्या में लोग जीवन और मौत के बीच संघर्ष कर रहे है तब प्रधानमंत्री आपात उपायों में व्यस्तता बढाने की जगह बेफिक्र होकर राज्यों मे चुनाव प्रचार कर रहे है। कोरोना काल में भी राष्ट्रीय सम्प्रभुता के क्षेत्र मे भी प्रमोद तिवारी ने मोदी सरकार पर अदूरदर्शिता के आरोप जड़े। उन्होनें कहा कि पाकिस्तान, श्रीलंका और नेपाल को प्रधानमंत्री कोरोना वैैक्सीन दे रहे है। उन्होनें कहा कि नेपाल ने लिपुलेख, कालापानी, लिम्पियाधुरा को असंवैधानिक और छदम्य रूप से अपना भूभाग ठहराते हुए नक्शे मे मिला लिया है। वहीं श्री तिवारी ने पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद के बावजूद उसे तब कोरोना वैक्सीन देने की तल्ख आलोचना की है जबकि देश के महाराष्ट्र, केरल, राजस्थान तथा छत्तीसगढ़ व दिल्ली जेैसे गैरभाजपा शासित राज्य कोरोना वैक्सीन के लिए तरस रहे है। उत्तर प्रदेश के हालात को भी चिंताजनक ठहराते हुए प्रमोद तिवारी ने कहा कि योगी सरकार भी कोरोना के संक्रमण को नियंत्रित करने मे पूरी तरह असफल साबित हो रही है। उदाहरण के तौर पर गृह जनपद प्रतापगढ़ का जिक्र करते हुए प्रमोद तिवारी ने कहा कि जिले में एक ही दिन में पीठासीन अधिकारी की मौत समेत एक सौ बान्नवे कोरोना संक्रमित मरीजों का मिलना चिंताजनक है। उन्होनें यह भी कहा कि कोरोना ने स्वास्थ्य प्रबन्धों की पोल खोल कर दोबारा रख दी तो अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में गिरावट के साथ एक बार फिर औद्यौगिक विकास पर अंधेरे का खतरा मंडराने लगा है। इसके पूर्व श्री तिवारी ने बभनपुर तथा पयागीपुर में जनसभाओं को संबोधित करते हुए रामपुरखास मे लोगों के मान सम्मान की सुरक्षा तथा विकास की हर महत्वाकांक्षी परियोजनाओं को विधायक मोना के सहयोग से गतिशील बनाए रखने का भरोसा दिलाया। जनसभा की अध्यक्षता ब्लाक प्रमुख सुरेंद्र सिंह ददन तथा संचालन मीडिया प्रभारी ज्ञानप्रकाश शुक्ल ने किया। इस मौके पर धर्मेन्द्र तिवारी पप्पू, केडी मिश्र, बुधई सरोज, डा. मुकेश मिश्र, बब्लू सिंह, लाल बहादुर वर्मा, प्रीतेन्द्र ओझा, मुरलीधर तिवारी, श्रीकांत मिश्र, ज्ञानपाल तिवारी, देशराज यादव, श्रीराम वर्मा, आचार्य विन्देश्वरी पटेल, जयसिंह, अवधेश पटेल, आदि रहे।








No comments